दूल्हे के घोड़ी चढ़ने पर दबंगों ने घर पर किया हंगमा, पुलिस के पहरे में निकालनी पड़ी बारात

add

राजगढ़। मध्य प्रदेश में राजगढ़ जिले के तहत पड़ने वाले कचनारिया गांव में दलित दूल्हे के घोड़ी चढ़ने और शादी समारोह में डीजे बजाने को लेकर जमकर हंगामा हुआ. गांव के दबंगों ने दलित दूल्हे के विवाह कार्यक्रम में पथराव किया और पंडाल को गिरा दिया। हंगामे की खबर लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और किसी तरह पुलिस के पहरे में दूल्हे की बारात निकली.

दरअसल मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में बीते शनिवार को दलित दूल्हे की बारात में जमकर हंगामा हुआ. माचलपुर थाना क्षेत्र के कचनारिया गांव में दलिल परिवार के यहां युवक का विवाह कार्यक्रम चल रहा था. सामाजिक भोज और राजेश की बारात की तैयारी चल रही थी. रात करीब साढ़े दस बजे जैसे ही डीजे बजते ही गांव के दबंग शादी में पहुंच गए.

बारात निकालने और डीजे बजाने को लेकर दबंगों ने घर लगे शादी के पंडाल को गिरा दिया. घर में बनी रसोई और खाना फेंक दिया. इसके साथ ही दबंगों ने उनके घर पर पथराव भी किया. पथराव के बाद भगदड़ मच गई और कई मेहमान भाग निकले. इस अफरा-तफरी और पथराव में 6 लोग घायल हो गए.

यह भी देखें – प्रदेश में इस जगह खुलेगा दूसरा सैनिक स्कूल, सरकार से 100 करोड़ की मंजूरी…

मामले में राजगढ़ SP प्रदीप शर्मा ने बताया कि दलित दूल्हे के परिवार पर हमला करने के मामले में 38 लोगों पर FIR दर्ज की गई है. इसके साथ 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और बाकी की तलाश की जा रही है. SP के मुताबिक आरोपियों के हथियार छीने जाएंगे. कचनारिया गांव के तीन आरोपियों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने के प्रस्ताव भेजे जा रहे हैं.

इससे पहले उज्जैन से भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था. जहां जिले की खाचरौद तहसील के एक गांव में बलाई समाज के एक युवक की बारात को सामान्य वर्ग के इलाके से जाने को लेकर दबंगों ने बारात को लौट दिया. जिसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को मिली तो पुलिस के संरक्षण में बारात निकाली गई.

वहीं मामला का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और भीम आर्मी और अखिल भारतीय बलाई महासंघ की मदद से मामले को सुलझाने की कोशिश की गई. जिसके बाद भी बात नहीं बनी तो थाना प्रभारी रविन्द्र यादव दल-बल के साथ पहुंचे और उन्होंने वर निकासी अपने संरक्षण में कराई.

Share This